Smartphone Rooting Kya Hai or Android Smartphone Ko Root Kaise Kare (With or Without PC)

दोस्तों, एंड्रॉयड दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला Operating System (OS) है और इसमें बहुत सारे ऐसे फ़ीचर्स हैं, जो आपको अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम में नहीं मिलेंगे। Android की सबसे की सबसे खाश बात ये है कि इसमें Users को बहुत कुछ बदलाव करने की अनुमति होती है या इसको Users अपने हिसाब से बदल सकते हैं। दूसरे शब्दों में कहें तो customization ही एंड्राइड का दूसरा नाम है। लेकिन एंड्रॉयड के ऐसे बहुत सारे features हैं, जो lock होते हैं और उनको इस्तेमाल करने की इजाजत उपयोगकर्ताओं को नहीं होती।
दोस्तों कई बार हमें अपने android smartphone के साथ ऐसे काम करने की या उसमें बदलाव करने की जरूरत पड़ जाती है, जिनको एंड्राइड हमें सीधा सीधा करने की इजाजत नहीं देता है, जैसे- कस्टम रैम इनस्टॉल करना, IMEI नंबर बदलना या फ़ोन में अपनी मर्ज़ी का अपडेट डालना। इसलिये ऐसे Third-Party काम करने के लिए हमें अपने स्मार्टफोन को Root करना पड़ता है।Root करके आप अपने android smartphone में अपनी मर्जी से बदलाव कर सकते हैं। लेकिन, बहुत से लोग ये नहीं जानते हैं कि Root क्या होता है या Android Smartphone को Root कैसे किया जाता है। इस टॉपिक पर हमारी वेबसाइट के कुछ रीडर्स ने हमसे अपने सवाल भी किए हैं कि –

  • Root (Android Smartphone Rooting) Kya Hota Hai
  • Apne Smartphone ko Root kaise kare
  • Smartphone ko Root karne ke Fayde or Nuksaan kya hain
  • PC se Android Smartphone ko Root kaise karte hai
  • Phone ko UnRoot kaise kiya Jaata hai इत्यादि।

तो आज की इस पोस्ट में हम इसी टॉपिक पर बात करेंगे और आपके इन्ही सवालों के जवाब देंगे कि Rooting क्या होती है और कैसे की जाती है। पूरी तरह से जानने के लिए हमारी इस पोस्ट को ध्यान से पढें ओर Root के बारे में पूरी तरह से जानें।

Android Smartphone Rooting क्या है और Android Smartphone को Root कैसे करें (With ओर Without PC) Full Guide in Hindi)

Rooting ya root kya hoti hai hindi jankari Technical Guruji

एंड्रॉइड रुट (Android Root) क्या है

Root एक ऐसी प्रोसेस (process) है, जिससे आपको अपने स्मार्टफोन को अपने हिसाब से चलाने और मैनेज करने का एक विषेशाधिकार मिल जाता है। एंड्रॉइड मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम को चलाने के लिए स्मार्टफोन, टैबलेट और अन्य डिवाइसों के उपयोगकर्ताओं को अपने डिवाइस को उनके हिसाब से चलने की अनुमति देने की प्रक्रिया चलाना रूटिंग (Rooting) है। रीटिंग को अक्सर उन सीमाओं पर काबू पाने के लक्ष्य के साथ किया जाता है जो वाहक और हार्डवेयर निर्माता कुछ डिवाइस पर डालते हैं।

आपके बिना Root किए स्मार्टफोन में ऐसे बहुत से features होते हैं, जिनको आप अपने हिसाब से इस्तेमाल नही कर पाते या आप उनमें कोई बदलाव नही कर पाते। ऐसे बहुत से फ़ीचर्स होते हैं, जिनके साथ छेड़छाड़ करने की या उनमें बदलाव करने की आपको बिलकुल भी अनुमती नहीं होती है। ये फ़ीचर्स आपके लिए पूरी तरह से Lock होते हैं। उन features में बदलाव करने का हक सिर्फ निर्माताओं को ही होता है। इसलिए Rooting एक ऐसी service या process है, जिसके माध्यम से आप ऐसे सभी features पर अपना खुद का नियंत्रण स्थापित कर सकते हैं या उनको Unlock कर सकते हैं और अपने स्मार्टफोन को अपने हिसाब से चला सकते हैं और उसमें बदलाव कर सकते हैं।

दूसरे शब्दों में अगर कहा जाए तो Android Smartphone में मौजूद सभी सीमाओं को तोड़ने की एक प्रॉसेस को ही Root या Android Smartphone Rooting कहा जाता है। Android की भाषा में ऐसी process को Root कहा जाता है, जबकि iOS की भाषा में इसको जैलब्रेकिंग (Jailbreaking) कहा जाता है।

तो अब आप अच्छी तरह समझ गए होंगे कि Rooting या Root क्या होता है। अपने स्मार्टफोन को Root करने के बाद आप उसमें वो सब काम कर सकते हैं जो आपको स्मार्टफोन को रुट करने से पहले करने की इजाजत नहीं होती। Root करने के बाद आप अपने स्मार्टफोन हर एक फीचर या उसके सॉफ्टवेयर की Root (जड़) तक जा सकते हैं और उसमें अपने हिसाब से बदलाव कर सकते हैं ओर अपने फ़ोन का पूरी तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं।

Smartphone root karne ke Fayde hindi Technical Guruji

Android Smartphone Ko Root Karne Ke Fayde (Advantages)

अगर आप अपने स्मार्टफोन को Root करते हैं तो इससे आपको बहुत से फायदे हो सकते हैं। Root करने से आपको ओर आपके स्मार्टफोन को होने वाले कुछ मुख्य फायदों को हम नीचे लिस्ट कर रहें –
1) स्मार्टफोन स्मार्टफोन्स में रैम या रोम की दिक्कत होती है। कम रोम (ROM) होने की वजह से आपको परेशानियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन फ़ोन को रुट करने से आपकी यह दिक्कत दूर हो सकती है, क्योंकि अब आप अपने स्मार्टफोन में Custom ROM इनस्टॉल कर सकते हैं और अपने फ़ोन के एसडी कार्ड को फ़ोन के इंटरनल स्टोरेज की तरह काम मे ले सकते हैं।
2) साधारण स्मार्टफोन में आप फ़ोन के IMEI नंबर में किसी भी तरह का बदलाव नहीं कर सकते हैं, लेकिन फोन को ROOT करने के बाद आप ऐसा कर सकते हैं और जरूरत पड़ने पर आप अपने Android Smartphone के IMEI नंबर बदल सकते हैं।
3) बहुत सी ऐसी apps होती हैं, जो ऑनलाइन होती हैं और ऑनलाइन apps में Ads की दिक्कत होती है। जब आप उस app को इस्तेमाल करते हैं तो आपको न चाहते हुए भी कुछ Ads देखने पड़ते हैं। आप इनको हटा नहीं सकते या आपको इन्हें हटाने के लिए उस app को Purchase करना पड़ता है, लेकिन स्मार्टफोन को Root करने के बाद आप ऐसा कर सकते हैं और अनचाहे Ads को Block करके उनसे छुटकारा पा सकते हैं।
4) Play Store पर ऐसी बहुत सी Apps होती हैं, जो आपके बहुत काम आ सकती हैं, लेकिन इन Apps की दिक्कत होती है कि आप इनको सिर्फ Root किए गए स्मार्टफोन में ही इनस्टॉल कर सकते हैं और इस्तेमाल कर सकते हैं। इसलिए smartphone को Root करने का आपको यह भी फायदा है कि आप ऐसी apps का अब आसानी से इस्तेमाल कर पाएंगे।
5) ज्यादातर कम कीमत में आने वाले smartphones में Hang होने की या कम बैटरी लाइफ की दिक्कत होती है, लेकिन Rooting के बाद स्मार्टफोन की यह दिक्कत दूर हो सकती है और आपका स्मार्टफोन पहले से ज्यादा Fast होगा ओर उसकी बैटरी भी ज्यादा चलेगी। अब उसके Hang होने की दिक्कत कुछ हद तक दूर हो सकती है।
6) इसके बाद Android smartohone को Root करने का बड़ा फायदा ये है कि अब आप अपने स्मार्टफोन को अपनी मर्ज़ी से latest update दे पाएंगे, क्योंकि डेवलोपर्स स्मार्टफोन में लेटेस्ट अपडेट देने में समय लगाते हैं या कुछ नए अपडेट आपको देते भी नहीं है, तो आप अपने स्मार्टफोन को अपडेट नही कर पाते। लेकिन रुट करने के बाद आप अपने स्मार्टफोन को एंड्राइड के latest अपडेट के साथ जब चाहे तब अपग्रेड कर सकते हैं।
7) Root करने का एक ओर फायदा ये है कि अब आप अपने स्मार्टफोन के असली मालिक या Developer हैं और उसके साथ जो मर्ज़ी चाहे कर सकते हैं और अपनी मर्ज़ी के बदलाव कर सकते हैं। अब आपको किसी भी तरह से स्मार्टफोन निर्माता पर निर्भर नही रहना पड़ेगा।
Smartphone ko Root karne ke Disadvantages hindi Technical Guruji

Android Smartphone Ko Root Karne Ke Nuksan (Disadvantages)

ऐसा नहीं है कि एंड्रॉयड फोन को Root करने के आपको सिर्फ फायदे ही होंगे। फोन को Root करने के कुछ नुकसान (Disadvantages) भी होते हैं, जिनको हम नीचे लिस्ट कर रहे हैं।
1) Smartphone को Root करने का सबसे बड़ा नुकसान या Disadvantage ये है कि Root करने के बाद आपके फोन की सारी Warrenty खत्म हो जाती है, यानी अब कंपनी की फ़ोन खराब होने, डैमेज होने या किसी भी तरह की technical दिक्कत होने पर कोई जिम्मेदारी नही होंगी।
2) फ़ोन को Root करने में बहुत ज्यादा Rick रहती है और Rooting की सारी process बहुत ध्यानपूर्वक करनी होती है। अगर आपसे Rooting की एक भी Step miss हुई तो आपका फोन हमेशा के लिए खराब हो सकता है। अगर ऐसा हुआ तो आपका फ़ोन कुछ नहीं रहेगा, सिवाय एक डिब्बे के।
3) इसके बाद Rooting करने का सबसे बड़ा खतरा ये रहता है कि आपके फोन में Virus आ सकते हैं। ऐसे वायरस जो आपके फ़ोन को ओर आपके फ़ोन में मौजूद आपकी सभी पर्सनल जानकारियों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।
4) अगर आप फोन को Root करते हैं तो फिर आपको अपने फोन में नया OTA सॉफ्टवेयर अपडेट करने के लिए दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। अब आपको कंपनी की तरफ से Software Update नहीं मिलेगा।
5) कुछ Google Apps हैं जो Rooted Smartphone में काम नहीं करती हैं। इसलिए फोन को रुट करने के बाद आपको ऐसी Google Apps को इस्तेमाल करने में परेशानी होगी।
Kya hame apne phone ko Root krna chahiye

Kya Android Smartphone Ko Root Karna Chahiye

स्मार्टफोन को root करना या ना करना आपकी जरूरत ओर आपकी Risk पर निर्भर करता है। अगर आप सोचते हैं कि आपको अपने स्मार्टफोन को स्वतंत्र रूप से इस्तेमाल करना है या आपको लगता है कि साधारण स्मार्टफोन से आपका काम नहीं बन रहा तो आपको अपने स्मार्टफोन को root करना चाहिए। लेकिन अपने स्मार्टफोन को रुट करने से पहले एक बार Root करने के Disadvantages के बारे में सोच लेना चाहिए। आप अपने स्मार्टफोन को root तभी करें जब आपको इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी हो। वरना अगर आपने रूटिंग के दौरान कोई गलती की तो आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।

हमारे हिसाब से अगर आप एक स्मार्टफोन ज्ञाता हैं और आपको इसके बारे में पूरी समझ है व आप इसमें आप अपने हिसाब से बदलाव करने की समझ रखते हैं तो आपको ऐसा करना चाहिए। अगर आपका अपने साधारण स्मार्टफ़ोन से काम नहीं बन रहा व आपको इसमें कमियां महसूस हो रही हैं तो आपको अपने स्मार्टफोन को root कर लेना चाहिए व अपने हिसाब से इसको अपग्रेड करने के बारे में सोचना चाहिए, लेकिन अगर आप एक साधारण स्मार्टफोन user हैं और आपका अपने स्मार्टफोन से अच्छे से काम चल रहा है तो आपको अपने स्मार्टफोन को root करने की ओर ज्यादा risk लेने की जरूरत नहीं है। इसके अलावा अगर आपका स्मार्टफोन नया है तो भी आपको Smartphone Rooting जैसा फैसला नहीं लेना चाहिए, क्योंकि इससे गलती होने पर आपके नए स्मार्टफोन को नुकसान पहुंच सकता है। इससे आगे आपकी मर्जी है कि आपको अपने smartphone को root करना है या नहीं।

Smartphone Rooting legal hai ya illegal

Kya Smartphone Ko Root Karna Illegal (अवैध) Hai

Phone को root करना कोई अवैध काम नहीं है, क्योंकि स्मार्टफोन आपका है और आप अपने स्मार्टफोन को लेकर अपनी मर्ज़ी के मालिक होते हैं और उसके साथ जो चाहे कर सकते हैं। smartphone rooting को किसी भी तरह से illegal नही कहा जा सकता।

कुछ स्मार्टफोन निर्माता कम्पनियां है जो आपको स्मार्टफोन को रुट करने की इजाज़त नहीं देती हैं, जैसे- Samsung, iPhone, HTC ओर ऐसी कम्पनियां रुट करने पर आपके स्मार्टफोन की सारी warenty या अन्य रद्द कर देती हैं और कुछ स्मार्टफोन निर्माता कम्पनियां ऐसा करने की पूरी आजादी देती हैं और Rooting के पक्ष में होती हैं, जैसे Xiaomi इत्यादि।

लेकिन जो कंपनी आपको इसकी इजाजत नही देती हैं इसका मतलब ये नहीं है कि आपको ऐसा करने की इजाज़त नहीं है। जैसा कि मैंने आपको कहा कि आप अपने स्मार्टफोन को लेकर अपनी मर्ज़ी के मालिक हैं। और आप उसके साथ अपनी मर्ज़ी से कुछ भी कर सकते हैं। लेकिन ऐसा करना आपकी Risk पर ही निर्भर करता है की आप क्या चाहते हैं। अगर आप सभी Advantages ओर Disadvantages को ध्यान में रखकर ऐसा करते हैं तो यह कोई illegal काम नहीं है।

Bina pc ke Smartphone ko Root karne ke baare me poori jankari Technical Guruji

Apne Smartphone ko Root kaise kare (Without PC)

वैसे तो स्मार्टफोन PC से ही अच्छी तरह तरह से root किया जाता है, लेकिन अब ऐसी बहुत सी apps बनाई जा चुकी हैं जिनकी मदद से आप अपने स्मार्टफोन को अपने ही स्मार्टफोन से आसानी से root कर सकते हैं, जैसे- KingRoot ओर KingoRoot इत्यादि।

Note :- आपके स्मार्टफोन में फ़ोन को root करने के लिए कोई अलग से फीचर नही होता, इसलिए आपको अपने स्मार्टफोन्स को root करने के लिए किसी Third party तरीके का ही इस्तेमाल करना होगा।

तो चलिए जानते हैं कि स्मार्टफोन को root कैसे करे बिना pc अपने मोबाइल से ही।

● King Root से फोन को root कैसे करें

स्मार्टफोन root करने का सबसे अच्छा तरीका King Root है। इस app से आप आसानी से अपने स्मार्टफोन को root कर सकते हैं। चलिये जानते हैं कि king root app से अपने स्मार्टफोन को root कैसे करें।

Step 1 :- सबसे पहले Yaha Click करके King Root app को डाऊनलोड करके अपने फोन में इनस्टॉल करें।

Note :- इनस्टॉल करते वक़्त अगर आपके सामने ‘install blocked‘ नाम आये तो आपको settings में जाकर Security में Unknown Source को enable कर देना है।

Step 2 :- इनस्टॉल होने के बाद app को open करें। open करते ही आपके सामने सबसे नीचे ‘Advanced Permission‘ नाम का एक ऑपशन मिलेगा, उसपर click कर दें।

Step 3 :- advanced permission पर क्लिक करने के बाद अगले पेज खुलने पर आपको GET ROOT पर क्लिक करना है।

Step 4 :- GET ROOT पर क्लिक करते ही आपके स्मार्टफोन की रूटिंग प्रोसेस शुरू हो जाएगी और पूरी 100% तक होते ही आपका स्मार्टफोन root हो जाएगा।

Note :- root की प्रोसेस शुरू करने के बाद आपको उसको 100% होने से पहले cancel नही करना है वरना आपको नुकसान हो सकता है।

कई बार kingroot आपके स्मार्टफोन में रूटिंग की प्रोसेस बंद कर सकता है या fail हो सकती है, जिसका कारण आपको बता दिया जाता है। ज्यादा अच्छी जानकारी के लिए आप kingroot पर रूटिंग को लेकर दिए जाने वाले instructions को ध्यान से पढें ओर अपने स्मार्टफोन्स को अच्छी तरह जानने के बाद ही root करे।

● Kingo ROOT से फोन को root कैसे करें ➤

KingRoot ओर Kingo ROOT दोनों अलग अलग Apps हैं और दोनों में root करने की प्रोसेस भी अलग अलग है। ऊपर आपने KingRoot के बारे में जाना था, चलिये अब Kingo ROOT से फोन ROOT करने के बारे में जानते हैं।

Step 1 :- सबसे पहले Yaha Click Karke Kingo ROOT ऐप को अपने फोन में इनस्टॉल करें।

Step 2 :- इनस्टॉल करने के बाद ऐप को open करें। ओपन करते ही आपको सबसे पहले ‘ONE CLICK ROOT‘ का ऑप्शन दिखाई देगा, उसपर क्लिक कर दें।

Step 3 :- Click करते ही आपके फोन की rooting process शुरू हो जाएगी। अब आपको इसे 100% तक होने का इंतेज़ार करना है। Root होते ही आपके सामने ROOT SUCCEEDS का नाम आ जाएगा और आपका फोन रुट हो जाएगा।

यह प्रोसेस fail भी हो सकती है। fail होने पर आप इसे फिर से शुरू कर दें, लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपको प्रोसेस बीच मे नही रोकनी है।

तो दोस्तों, ये थी दो apps- kingroot ओर kingo root, जिनकी मदद से आप अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन को root कर सकते हो। इनके अलावा भी कुछ अच्छी apps हैं, जिनकी मदद से आप अपने किसी भी स्मार्टफोन को रुट कर सकते हो, जैसे 1- One Click Root, 2- ROOT Master 3- FramaRoot 4- z4root इत्यादि।

तो ये तो हुई android smartphone से फोन को root करने के बारे में। अब बात करते हैं कि हम pc से अपने फोन को root कैसे कर सकते हैं।

Pc se Smartphone ko Root karne ke baare me jankari hindi technicalguruji.com

Apne Android Smartphone Ko Root Kaise Kare (With PC)

Pc से फ़ोन को root करना बहुत ही आसान और सुरक्षित होता है। फ़ोन से root करते वक़्त rooting process कई बार बीच मे ही cancel हो जाती है लेकिन pc से ऐसा कम होता है और आपके फोन के जल्दी root होने के सम्भावना बढ़ जाती है।

Pc से फोन को root करने की प्रोसेस भी मोबाइल की तरह ही होती है और इसके लिए सबसे अच्छा software किंगरूट (KingRoot) ही है। kingroot फोन और pc दोनों के लिए आता है। यहाँ में आपको Pc में KingRoot सॉफ्टवेयर की मदद से ही फोन को root करने के बारे में बता रहा हूँ। तो चलिए जानते हैं कि KingRoot सॉफ्टवेयर की मदद से PC से एंड्रॉइड स्मार्टफोन को root कैसे किया जाता है।

KingRoot Software

किंगरूट सॉफ्टवेयर की मदद से pc से फोन को root करने के लिए आप ये steps ध्यानपूर्वक follow करें –

Step 1 :- सबसे पहले yaha click karke Pc में KingRoot सॉफ्टवेयर डाऊनलोड व इनस्टॉल करें।

Step 2 :- अब अपने फोन को USB कैबल की मदद से pc से कनेक्ट करिये ओर किंगरूट सॉफ्टवेयर को open कीजिये।

Step 3 :- फोन को pc से जोड़ने के बाद आपको अपने फोन में USB Debugging को एक्टिवेट करना है। इसके लिए आप यह steps फॉलो करें –

● Activate करने के लिए अपने फोन की Settings में जाये और About पर click करें।
● अब आपके सामने थोड़ा नीचे Build Number का ऑप्शन दिखेगा, उसपर लगातार 7 बार Tap करें।
● 7 बार tap करते ही आपका आपके फ़ोन का Developers ऑप्शन on हो जाएगा। अब आप settings में वापिस जाएं।
● अब आप Developers options मेनू पर click करें।
● अब आपको यहाँ थोड़ा नीचे जाने के बाद USB Debugging का option दिखेगा, उसको Right tick करके activate कर दें।

Step 4 :- अब आप अपने pc में KingRoot सॉफ्टवेयर को open करिए। ऑपन करते ही किंगरूट सॉफ्टवेयर आपके मोबाइल अपने आप डिटेक्ट कर लेगा और आपको आपके मोबाइल के मॉडल नम्बर व फ़ोटो इत्यादि दिखाने लगेगा।

Step 5 :- अब आपको यहाँ ROOT का बटन दिखाई देगा, उसपर Click करना है।

Note :- ROOT बटन पर क्लिक करने से पहले आपको अपने pc को ई इंटरनेट से कनेक्ट करना होगा, क्योंकि PC में किंगरूट सॉफ्टवेयर ऑनलाइन काम करता है।

Step 6 :- ROOT पर क्लिक करते ही आपके मोबाइल की ROOTING की PROCESS शुरू हो जाएगी। इसको 100% तक होने में थोड़ा समय लग सकता है।

Note :- आपको Rooting की इस प्रोसेस को बीच में नही रोकना है। अगर आपने इसको बीच मे रोक, फ़ोन को USB से डिसकनेक्ट किया या फोन को ऑफ किया तो आपका फोन खराब हो सकता है या आपका पर्सनल डेटा डिलीट हो सकता है।

Step 7 :- जब आपके फोन की rooting process 100% पूरी हो जाएगी, तब आपका फोन Reboot होगा और आपके pc में ROOT SUCCEED का नाम आ जाएगा। यानी अब आपका फोन ROOT हो गया है। इसको आप Play Store से किसी Root checker App को इनस्टॉल करके check कर सकते हैं।
तो दोस्तों, ये थी Rooting के बारे में पूरी जानकारी। उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आई होगी और इससे आपको rooting के बारे में सारी जरूरी जानकारी अच्छे से मिली होगी। अगर अब भी आपका Smartphone Rooting को लेकर ओर कोई भी सवाल है या आपको अपने फोन को root करने में दिक्कतें आ रही हैं तो अपना सवाल हमसे Comment Box में Comment के माध्यम से जरूर पूछें, हम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेंगे।

एक बात का ध्यान रहे कि अगर आप हमारे द्वारा बताई गई स्टेप्स से अपने फ़ोन को Root करते हैं और इस दौरान आपसे कोई गलती हो जाती है व आपका फोन खराब हो जाता है या कोई भी दिक्कत होती है या तरीका काम नही करता तो इसके लिए Geeky Rohit.com वेबसाइट किसी भी तरह से जिम्मेदार नहीं होगी। यह सिर्फ आपकी Risk पर निर्भर है।

आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो नीचे दिए गए Share के ऑप्शन पर Click करके इसको अपने दोस्तों के साथ उनकी मदद के लिए जरूर शेयर करें और हमें comment करके पोस्ट के बारे में जरूर बताएं।

धन्यवाद।
जय हिंद।

वन्दे मातरम।

Read More :-
Tags :- Technical Guruji, TechnicalGuruji, Technical Guruji Website, TechnicalGuruji.com, technical guruji, technicalguruji, technical guruji website, technicalguruji.com, rooting, Root kya hai, root kaise kare, pc se phone ko Root kaise kare, root, rooting, smartphone rooting, rooting guide, root kaise, Faye or Nuksaan, rooting with pc, rooting in android, smartphone root, root krna
0 comments
0 likes
Prev post: YouTube Partner Program (Monetization) Criterias in Hindi Technical Guruji 2018Next post: Youtube New Monetization Policy 2018 ~ 4,000 hour/1,000 subscriber Limit Update in Hindi

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About Me

Hi Friends, My Name Is Rohit Maan And I'm Owner Of This Website. If You Have Any Queries or Any Questions About Tech, Plz Follow Me And Ask Me Your Questions At Social Media Below. Read More About Me

Latest Posts
Categories
Most Popular