Bitcoin Kya Hai Or Bitcoin Ka Istemal Kaise Kare

बढ़ती Technology और Internet की बदौलत पैसे कमाना बहुत ही आसान हो गया है। आज के समय में Internet के माध्यम से घर बैठकर पैसे कमाने के बहुत सारे तरीके हैं, उन सभी तरीकों में से एक तरीका है Bitcoin. आज हम इस लेख के माध्यम से चर्चा करेंगे कि Bitcoin क्या है और यह कैसे काम करता है।

Bitcoin क्या है, कैसे काम करता है, इसको कहाँ रखा जाता है, ये सब ले कर आपके मन में बहुत सवाल होंगे। Internet के बदौलत आज सभी की ज़िन्दगी आसान हो गयी है। सभी तरह की जानकारी हासील करने से लेकर खरीददारी करना, ticket booking करना इत्यादि सब कुछ हम internet के मदद से कर पा रहे हैं। आज कल internet की मदद से पैसे कमाना भी मुमकिन हो गया है। बहुत सारे तरीके हैं जिससे की हम घर बैठे ही internet से पैसे कमा सकते हैं। उन सभी तरीको में से एक तरीका है Bitcoin जिसके वजह से हम बहुत पैसे कमा सकते हैं। आप में से कुछ लोगों ने Bitcoin के बारे में सुना होगा और जिन्हें Bitcoin के बारे में कुछ भी नहीं पता आज उन्हें इस लेख के जरिये पता चल जायेगा। जी हाँ, आज मै आपको Bitcoin क्या है इसके बारे में बताने वाली हूँ।
तो चलिए दोस्तों, जानते है की बिटकॉइन क्या है, इसके क्या फायदे है ओर ये कैसे काम करता है इत्यादि के बारे में विस्तार से –

BitCoin क्या है

बिटकाइन एक विकेन्द्रीकृत डिजिटल मुद्रा है। यह पहली विकेन्द्रीकृत डिजिटल मुद्रा है जिसका अर्थ है की यह किसी केंद्रीय बैंक द्वारा नहीं संचालित होती। कंप्यूटर नेटवर्किंग पर आधारित भुगतान हेतु इसे निर्मित किया गया है। इसका विकास सातोशी नकामोतो नामक एक अभियंता ने किया है। सातोशी का यह छोटा नाम है।
Bitcoin एक virtual currency है। जैसे बाकि currencies होते है Rupee, Dollar इत्यादि ठीक उसी तरह Bitcoin भी एक digital currency है। ये बाकि currencies से बिलकुल अलग है क्यूंकि Bitcoin को ना ही हम देख सकते हैं ना ही उसे पैसों की तरह छू सकते हैं। Bitcoin को हम सिर्फ online wallet में store करके रख सकते हैं। Bitcoin एक decentralized currency है, जिसका मतलब ये है की इसे control करने के लिए कोई भी bank या authority या सरकार नहीं है यानि की कोई इसका मालिक नहीं है। Bitcoin का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है जैसे हम सब internet का इस्तेमाल करते हैं और उसका भी कोई मालिक नहीं है ठीक उसी तरह Bitcoin भी है।
वर्तमान में संसार में Bitcoin काफी लोकप्रिय हो रहा है। इसका आविष्कार सातोशी नकामोतो नामक एक अभियंता ने 2008 में किया था और 2009 में Open source software के रूप में इसे जारी किया गया था। वर्तमान में लोग कम कीमत पर बिटकॉइन खरीद कर ऊंचे दामों पर बेच कर कारोबार कर रहे हैं। ऐसे सैकड़ों हजारों वेबसाइट कंपनी है जो बिटकोइन को स्वीकार कर रही हैं।

Bitcoin कैसे काम करता है

यह प्रश्न अक्सर भ्रम और हलचल मचाता है। नए यूज़र्स को बिटकॉइन के बारे में अच्छी तरह से पता नहीं होता है कि Bitcoin काम कैसे करता है और वो इसके इस्तेमाल के बारे में जानकारियां एकत्रित करते रहते हैं। अगर आपको भी नही पता कि बिटकॉइन कैसे काम करता है तो चलिए जानते हैं इसके बारे में –
जब हम Physical Currency (भौतिक मुद्रा) का इस्तेमाल करते हैं तो हम बैंक के payment process को follow करते हैं, तभी जाकर हम Currency का लेन-देन कर पाते हैं, किस व्यक्ति के Account में कितने पैसे कहां भेजे सभी का statement हमारे या जिसको Transaction किया गया है, उसके account में available रहता है। उसी तरह Bitcoin के साथ किए गए Transaction का हिसाब एक account में रिकॉर्ड रहता है जिसे Bitcoin Block-Chain तकनीक कहा जाता है.
Bitcoin की कीमत प्रत्येक देश में अलग-अलग होती है। आज की Date में 1 Bitcoin की कीमत Indian rupee के हिसाब से 9 लाख के उपर है। वहींं अमेरिका में एक Bitcoin की कीमत 14,600 यूएस डॉलर है। आज Bitcoin का चलन विश्व बाजार में बहुत तेजी से हो रहा है, यह बहुत तेजी के साथ बदलने वाली मुद्रा है, जिसकी value में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है।
मुख्य रूप से Bitcoin की Rate का निर्धारण इसकी Demand एंड Supply पर निर्भर करता है। अलग-अलग देशो में Bitcoin की value अलग-अलग होती है, लेकन इंटरनेशनल मार्केट में इसकी एक इंटरनेशनल Rate होती है, जो अन्य देशो की value को प्रभावित करती है और कभी-कभी उनसे भी प्रभावित होती है।

Bitcoin की कीमत क्या होती है

Bitcoin की कीमत लगातार घटती ओर बढ़ती रहती है।Bitcoin का value आज के दिन में करीबन $999 है मतलब एक Bitcoin की value 65,000 है। बिटकॉइन की सबसे छोटी संख्या को सातोशी कहा जाता है। एक बिटकॉइन में 10 करोड़ सातोशी होते हैं। यानी 0.00000001 BTC को एक सातोशी कहा जाता है। इसकी value कम या ज्यादा होती रहती है क्यूंकि इसको control करने के लिए कोई authority नहीं है इसलिए इसकी value इसके demand के हिसाब से बदलती रहती है।
इसकी कीमत हर देश में अलग अलग होती है। चूँकि इसका चलन विश्व बाज़ार में है, इसलिए इसकी कीमत हर देश में इसकी मांग के अनुसार होती है। आज Bitcoin का चलन विश्व बाज़ार में बहुत तेज़ी पर है। ये एक बहुत ही परिवर्तनशील मुद्रा है। Bitcoin के व्यापार में एक बेहेतरीन उछाल वर्ष 2013 में आया था जब इसकी एक इकाई की क़ीमत 22$ से बढकर 266$ हो गयी थी। उस समय Bitcoins का विश्व बाज़ार मूल्य २ अरब हो गया था।

Bitcoin कैसे बनाएं

Bitcoin बनाने या Bitcoin कमाने के कई तरीके हैं, जिनके माध्यम से आप bitcoin कमा सकते हैं और अपने Bitcoin wallet में जमा कर सकते हैं। जानते हैं बिटकॉइन बनाने या कमाने के कुछ तरीके –
  • – पहला तरीका ये है की अगर आपके पास पैसा है तो आप एक bitcoin सीधे $999 देकर खरीद सकते हैं। ऐसा भी नहीं है की अगर आपको एक bitcoin खरीदना है तो आपको पुरे के पुरे $999 देने होंगे आप चाहे तो bitcoin की सबसे छोटी unit “satoshi” भी खरीद सकते हैं। जैसे हमारे भारत में 1 रुपये में 100 पैसे होते हैं ठीक उसी तरह 1 bitcoin में 10 करोड़ satoshi होते हैं तो आप चाहे तो bitcoin की सबसे छोटी रक़म satoshi खरीद कर धीरे धीरे 1 या उससे ज्यादा bitcoin जमा कर सकते हैं। जब आपके पास bitcoin मौजूद हो जायेगा और उसका price बढ़ जायेगा तब आप उसे बेच कर ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।
  • – दूसरा तरीका है की अगर आप online किसी को कोई सामान बेच रहे हों और उस खरीददार के पास अगर bitcoin मौजूद है तो उससे आप पैसे के बदले में bitcoin ले लो, ऐसे में आप उन्हें वो सामान भी बेच देंगे और आपको bitcoin भी मिल जायेगा जो आपके bitcoin wallet में store हो कर रहेगा। आप चाहे तो बाद में उस bitcoin को दुशरे व्यक्ति को ज्यादा दाम में बेच कर मुनाफा भी पा सकते हैं।
  • – तीसरा तरीका है bitcoin mining का। इसके लिए हमें high speed processor वाले computer की जरुरत पड़ेगी जिसका hardware भी अच्छा होना चाहिये। हम bitcoin का इस्तेमाल सिर्फ online payment करने के लिए करते हैं और जब कोई bitcoin से payment करता है तो उस transaction को verify किया जाता है। जो इन्हें verify करते हैं उन्हें हम miners केहते हैं और उन miners के पास high performance computer और GPU होता है और वो इसके जरिये transactions को verify करते हैं। वो ये verify करते हैं की transactions सही है या नहीं या उसमे किसी तरह की हेरा फेरी तो नहीं की गयी है। इस verification के बदले उन्हें कुछ bitcoins इनाम के तौर पे मिलता है और इस तरीके से नए bitcoin market में आते हैं। ये कोई भी कर सकता है इसके लिए high speed processor वाले computer की जरुरत पड़ती है जिसे खरीदना हर किसी के बजट में नहीं होता।

Bitcoin Mining क्या है

आम भाषा में माइनिंग का मतलब ये होता है कि खुदाई के द्वारा खनिजो को निकालना जैसे की सोना कोयला आदि की माइनिंग चूकि बिटकॉइन का कोई भोतिक रूप तो है नहीं तो इसकी माइनिंग परंपरागत तरीके से तो नहीं हो सकती इसकी माइनिंग मतलव की बिटकॉइन का निर्माण करना होता है जो की कंप्यूटर पर ही संभव है अर्थात बिटकॉइन को कैसे बनाएं नई बिटकॉइन बनाने के तरीके को बिटकॉइन माइनिंग कहा जाता है।
Bitcoin Mining का मतलब एक ऐसी प्रोसेस है जिसमें कंप्यूटिंग पावर का इस्तेमाल कर transaction प्रोसेस किया जाता है, नेटवर्क को सुरक्षित रखा जाता है साथ ही नेटवर्क को synchronise भी किया जाता है यह एक बिट कंप्यूटर सेंटर की तरह है पर यह डी ट्रांसलाइज सिस्टम है जिससे कि दुनिया भर में स्थित माइनरस कंट्रोल करते हैं। Minors वो होते हैं जो माइनिंग का कार्य करते हैं अर्थात जो bitcoin बनाते हैं अकेला एक इंसान माइनिंग को कंट्रोल नहीं कर सकता। बिटकॉइन माइनिंग की सफलता का ट्रांजैक्शन प्रोसेस करने पर जो पुरस्कार मिलता है वह बिटकॉइन होता है। बिटकॉइन माइनरस को माइनिंग के लिए एक इस्पेशल हार्डवेयर या कहें तो एक शक्तिशाली कंप्यूटर जिसकी पप्रोसेसिंग तीव्र हो की आवश्यकता होती है। इसके अलावा बिटकॉइन माइनिंग सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है। माइनरस अगर ट्रांजैक्शन को कंप्लीट कर लेते हैं तो उन्हें ट्रांजैक्शन फीस मिलती है यह ट्रांजैक्शन फीस बिटकॉइन के रूप में ही होती है एक नई ट्रांजैक्शन को कंफर्म होने के लिए उंहें ब्लॉक में शामिल करना पड़ता है उसके साथ एक गणितीय प्रणाली होती है उससे हल करना होता है कि जो की बहुत कठिन होता है जिसकी पुष्टि करानी होता है प्रूफ करने के लिए आपको लाखों कैलकुलेशन प्रति सेकंड करनी पड़ेगी उसके बाद ही ट्रांजैक्शन कंफर्म होगा। जैसे जैसे माइनरस हमारे इस नेटवर्क से जुड़ेंगे तो उन्हें माइनिंग करने के लिए रिक्त ब्लाक खोजने का तरीका और भी कठिन हो जाएगा।
Mining का काम वही लोग करते हैं जो जिनके पास के पास विशेष गणना वाले कंप्यूटर और गणना करने की उचित क्षमता हो ऐसा नहीं होने पर माइनरस केवल इलेक्ट्रिसिटी ही खर्च करेगा और अपना समय बर्बाद करेगा।

Bitcoin वैध (legal) है या अवैध (illegal) –

Bitcoin डिजिटल करेंसी legal है या illegal, इसपर भी लगातार सवाल उठते रहे हैं। बहुत से देशों में यह illegal है और इसके लेन देन पर प्रतिबंध है तो कुछ देशों में यह खुले रूप से मान्य है और इसका ऑनलाइन लेनदेन होता है। भारत मे यह पूरी तरह से वैध नहीं है और इसपर लगातार सवाल उठते रहे हैं और सरकार इसपर इन्वेस्ट करने से मना भी करती रही है।
RBI भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 24 दिसम्बर 2013 को बिटकॉइन जैसी वर्चुअल मुद्राओं के सम्बन्ध में एक प्रेस प्रकाशनी जारी की गयी थी। इसमें कहा गया था की इन मुद्राओं के लेन-देन को कोई अधिकारिक अनुमति नहीं दी गयी है और इसका लेन-देन करने में कईं स्तर पर जोखिम है। 1 फरवरी 2017 और 5 दिसम्बर 2017 को रिजर्व बैंक ने पुन: इसके बारे में सावधानी जारी की थी। कई अर्थशास्त्रियों द्वारा बिटकॉइन को पोंज़ी स्कीम घोषित किया गया है।
भारतीय सरकार भी बिटकॉइन को इस्तेमाल करने और इसपर इन्वेस्ट करने को लेकर कई बार चेतावनी दे चुकी है। लेकिन भारत मे अभी भी इसकर लेनदेन होता है और ऐसे लाखों लोग हैं जिन्होंने बिटकॉइन में निवेश किया है और लोग आप भी इसमें चाह कर निवेश कर रहे हैं। फिलहाल भारत मे इसका क्या भविष्य है, इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता।
– तो दोस्तों, ये थी Bitcoin के बारे में कुछ जरूरी जानकारी। आपको यह जानकारी कैसी लगी मुझे जरूर बताएं ओर ऐसी ही अन्य जानकारियों के लिए जुड़े रहिये Geeky Rohit के साथ। धन्यवाद
0 comments
0 likes
Prev post: Digital Marketing Kya Hai Or Digital Marketing Ke Kya Kya Fayde HainNext post: Bitcoin इस्तेमाल करने के कुछ फायदे ओर नुकसान हिन्दी में ~ Geeky Rohit

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About Me

Hi Friends, My Name Is Rohit Maan And I'm Owner Of This Website. If You Have Any Queries or Any Questions About Tech, Plz Follow Me And Ask Me Your Questions At Social Media Below. Read More About Me

Latest Posts
Categories
Most Popular