in , ,

Year 2038 Problem क्या है और इससे कैसे बचें

Year 2038 Problem

आजकल इंटरनेट ओर इलेक्ट्रॉनिक्स की दुनिया में एक नई समस्या उभरकर सामने आई है, जिसको Year 2038 Problem या Y2K38 नाम दिया जा रहा है। ज्यादातर लोग इसके बारे में नहीं जानते हैं लेकिन यह इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों के लिए एक बहुत बड़ी समस्या है। वैज्ञानिकों के अनुसार यदि समय रहते Year 2038 Problem का हल नहीं निकाला गया तो दुनिया भर के सभी Incompatible Computers, Gadgets और Electronic Device डिसेबल हो जाएंगे। इससे बचने के लिए डिवाइसेज को 64-bit कैपेबल बनायें।

क्या आप भी नहीं जानते हैं कि आखिर यह Year 2038 Problem या Y2K38 Problem क्या है, क्यों यह समस्या इतनी भयावह है और इससे कैसे बचा जा सकता है? अगर नहीं तो में आपको इस पूरे article विस्तार से बताऊँगा की Year 2038 Problem क्या है और इससे आप अपने डिवाइस को कैसे बचा सकते हैं। जानने के लिए पूरी पोस्ट को अन्त तक पढ़े –

Year 2038 Problem या Y2K38 क्या है और इससे कैसे बचें (Year 2038 Problem In Hindi)




आखिर क्या है Year 2038 Problem?

क्या आपको Y2K याद है? जी हां, एक बार फिर यही समस्या नए रूप में सामने आने वाली है और इस बार ज्यादा त्रासदीकारक ओर ज्यादा भयावह होगी। इस बार इसे Year 2038 Problem कहा जा रहा है। इस समस्या को Year 2038 Problem इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि यह समस्या 19 जनवरी 2038 को दुनियाभर के सभी Incompatible Computers, गैजेट्स ओर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों को Disable कर देगी। सबसे बड़ी बात यह है कि यह एक ऐसी समस्या है जिसका अभी तक कोई स्थायी समाधान नहीं खोजा जा सका है, हालांकि Software Engineers जल्दी ही इस समस्या के समाधान खोजने की सम्भावना जता रहे हैं।

Technology लाइफ में घुस गई है –

वर्ष 2000 से पहले पूरी दुनिया इस बात से आसंकित थी कि 2000 शुरू होते ही दुनिया के सारे कंप्यूटर बंद हो जाएंगे। कहीं कोई काम नहीं होगा, सभी कम्प्यूटरीकृत सिस्टम बन्द पड़ जाएंगे। हालांकि ऐसा नहीं हुआ, समय रहते इस समस्या का समाधान खोज लिया गया और आज 19 वर्षों बाद भी दुनिया भर के कंप्यूटर न केवल चल रहे हैं, बल्कि पहले से ज्यादा स्मार्ट और User Friendly बन चुके हैं, यहाँ तक कि तकनीक हमारी लाइफ में बहुत अंदर तक घुस गई है। आज सभी लोग डिजिटल हो गए हैं और ज्यादातर काम कंप्यूटर से या ऑनलाइन होने लगे हैं। यह technology के इतने विकास से ही सम्भव हो सका है।

हो सकती है परेशानी –

इस समस्या के चलते कंप्यूटर्स, स्मार्टफोन तथा गैजेट्स सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे। उन पर पुरानी फाइल्स ओपन करना लगभग असंभव हो जाएगा। पहले से मौजूद Database पर काम नहीं कर पाएंगे। कुछ खाश Programming language जैसे – C, C++ व VB में बने प्रोग्राम्स इससे ज्यादा प्रभावित होंगे। जो भी software या app इसमें बने होंगे, वो सभी क्रेश हो जाएंगे। इसका अंजाम क्या होगा, इसका आप सहज ही अंदाजा लगा सकते हैं। आप खुद ही कल्पना कर सकते हैं कि आप एक बन्द स्मार्टफोन या लैपटॉप से कितना काम कर पाएंगे।

32 Bit Operating System वाले कंप्यूटर्स होंगे प्रभावित –

ये समस्या दरअसल ऑपरेटिंग सिस्टम में टाइम स्टॉम्प के लिए प्रयोग किए जा रहे आर्किटेक्चर को लेकर हो रही है इस वक़्त जितने भी 32-बिट operating system वाले कंप्यूटर्स हैं, वे इससे प्रभावित होंगे।

इस समस्या से प्रभावित होने वाले डिवाइस –

इस समस्या से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले डिवाइस इस प्रकार हैं –

  • Android Gadgets (स्मार्टफोन, टैबलेट, स्मार्ट टीवी आदि)
  • Apple की सभी devices (स्मार्टफोन, टैब्स, स्मार्ट टीवी आदि)
  • सभी माइक्रोचिप (जो रोबोटिक या Internet of Things में काम आती हैं।)
  • रॉस्पबेरी सर्किट्स आधारित (Low Budget Computing के लिए काम आने वाली) डिवाइसेज
  • Super Computers
  • Linux Operating system पर चलने वाले डिवाइस
  • पुराने COBOL System जो अभी तक अपडेट नहीं किये गए हैं। इनमें Military System, Emergency System तथा Monitoring System भी शामिल हैं।

अभी वाले system सिर्फ 2038 तक रहेगें active –

अगर कल को कोई भी ऐसी समस्या आ जाती है जिसका computer industry के पास कोई जवाब नहीं हो तो? Year 2038 प्रॉब्लम भी इसी तरह की समस्या है। एक्सपर्ट्स के अनुसार कुछ वर्षों पहले तक जो ऑपरेटिंग सिस्टम बने, वे केवल 19 जनवरी 2038 तक ही काम कर पाएंगे। इसके बाद उनमें तारीख बदलकर नैगेटिव हो जाएगी ओर कंप्यूटर Automatically Backdate Adopt कर 19 जनवरी 2038 दिखाने के बजाय 13 दिसंबर 1901 दिखाने लगेगा। कंप्यूटर्स के बैकडेट में जाते ही सभी प्रोग्राम्स बन्द हो जाएंगे, Automation ठप पड़ जाएगा और जो हम आज देख रहे हैं वो सब सिर्फ इलेक्ट्रॉनिक मशीनों का ढाँचा मात्र रह जाएगा। यही Year 2038 Problem है।

Windows Computer होंगे ज्यादा प्रभावित –

Microsoft के अनुसार विंडोज के 64-bit वर्जन में इस समस्या का समाधान कर दिया गया है, बशर्ते कि आप पुराने किसी 32-bit वाले प्रोग्राम को काम में नहीं ले रहें हों तो। माइक्रोसॉफ्ट के इंजीनियरों के अनुसार लेटेस्ट विंडोज सिस्टम में अगले 30,827 वर्षों तक ऐसी कोई भी समस्या नहीं आएगी। आप निश्चिंत होकर अपने नए विंडोज लैपटॉप, सिस्टम तथा गैजेट्स पर काम कर सकते हैं लेकिन डिवाइसों में windows XP पर चलने वाले सॉफ्टवेयर्स या 32-bit सपोर्ट करने वाले किसी सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करने से बचें। यही एकमात्र समाधान होगा।

Apple ओर Linux में हो चुका है समाधान –

अगर आप iOS 10.6 या इससे पुराने वर्जन काम मे ले रहे हैं तो निश्चित रूप से ये समस्या आपको परेशान करेगी, जबकि लेटेस्ट वाले वर्जन्स में आपको इस तरह की कोई भी समस्या नहीं आने वाली। अगर आप Linux आधारित operating system या software काम में ले रहे हैं तो आप आराम से रहें। सभी latest software’s में इस समस्या का समाधान कर दिया गया है। जैसे जैसे Linux की kernel update हो रही है, उसके सभी issues खत्म हो रहे हैं। वर्तमान में जारी हुई kernel 4.15 काफी हद तक इस समस्या का समाधान कर दिया गया है। लेकिन अभी भी कुछ issues हैं, जिन्हें अगले कुछ महीनों में सुलझा लिया जाएगा। अगर आप अपने सिस्टम में anti virus डालकर रखते हैं और हर सॉफ्टवेयर को अपडेट रखते हैं तो फिर आपको आने वाले समय में किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।




क्या है इसका उपाय –

इस समस्या का एकमात्र समाधान या उपाय यही है कि आप अपने devices (खासतौर पर laptops, computers आदि) पर 64-bit operating system ओर software इनस्टॉल करें। इसके अलावा समय-समय पर आने वाले updates को install करते रहें। खाषतौर पर अगर आप Windows या Apple Operating system काम ले रहे हैं तो आने वाले सभी updates को install करें।

Careful रहने की जरूरत –

अगर आप C, C++ या Visual Basic काम मे ले रहे हैं तो सावधान रहें। VB 8 में इस समस्या का निराकरण कर दिया गया है, VB 7 या उससे पुराने वर्जन पर बनने वाले प्रोग्राम्स में यह दिक्कत आएगी। इसलिए आपको बहुत ज्यादा careful रहने की जरूरत है।

ये है इसका स्थाई समाधान (Solution) –

इस समस्या के समाधान के लिए इंजीनियर्स OS (operating system) ओर Softwares अपडेट कर रहे हैं। इसके तहत सभी को 64-bit कैपेबल बनाया जाएगा। 64-bit इनेबल होने के बाद नए प्रोग्राम्स 3,00,000 वर्षों तक Time Show करने की capacity हासिल कर पाएंगे। अपडेट होने के बाद electronic devices में अगले 3,00,000 वर्षों तक ऐसी समस्या नहीं आएगी।

तो दोस्तों, यही थी मेरी आज की मेरी जानकारी Year 2038 समस्या , इसके भयानक नतीजे ओर इससे बच सकने या इसके सम्भव उपायों के बारे में। उम्मीद करता हूं कि आपको अब Year 2038 समस्या या problem के बारे में अच्छी तरह से पता चल गया होगा। इस पोस्ट में इतना ही। ऐसी ही अन्य Technology से जुड़ी सभी अच्छी अच्छी और मददगार जानकारियों के लिए जुड़े रहिये मेरी वेबसाइट Geeky Rohit के साथ।

Written by Rohit Maan

Hello Friends, I'am Rohit Maan, Admin and Founder of this website Geeky Rohit. I'm a professional blogger and Web developer from Rajasthan. If you want know more about me, Please follow me at Social media by Clicking Social Button Below. Thanks a Lot...!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

wannacry ransomware

Ransomware Wannacry क्या है और इससे कैसे बचें