Ethical Hacking क्या है और Hacker कैसे बनें

What Is Ethical Hacking In Hindi | Ethical Hacking Kya Hai Or Hacking Kaise Sikh Sakte Hain | Ethical Hacker कैसे बने - Hacking Ki Jankari
what is ethical hacking hindi

आज का जमाना इंटरनेट का जमाना है। यहां जो कुछ भी होता है ऑनलाइन ही होता है। और यही वजह है कि आजकल हर कोई इंटरनेट के मामले ओर इससे जुड़ी सभी जानकारियों में अपने आप को स्थापित करना चाहता है। इसी इंटरनेट के युग में आजकल Ethical Hacking काफी ज्यादा चर्चा का विषय बना हुआ है और इसमें काफी ज्यादा स्कोप भी है। आजकल इंटरनेट और कंप्यूटर की जानकारी रखने वाला कोई शख्स Ethical Hacking के बारे में जरूर सोचता है और इस फील्ड में जाने और अपने आप को स्थापित करने के बारे में सोचता है। और शायद आप भी उन्हीं में से एक होंगे, जो एथिकल हैकिंग के बारे में जानना चाहते हैं और इसको सीखना चाहते हैं।

मै आपको बता दूं कि Hacking आज के दौरे का सबसे जटिल काम है और प्रोफेशनल भी। लेकिन किसी भी तरह की हैकिंग या इससे जुड़ी गतिविधि कानूनन तौर पर Illegal होती है और अगर कोई भी हैकिंग से जुड़ी गतिविधियों में पाया या पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ काफी सख्त कार्यवाही हो सकती है। खैर, ये तो बात है सिर्फ Hacking की। यहाँ हम बात कर रहे हैं एथिकल हैकिंग (Ethical Hacking) की, जो हैकिंग से अलग है।

आजकल बहुत सारी बड़ी कंपनियां या विभिन्न सरकारी या गैरसरकारी संस्थान, जो ऑनलाइन व इंटरनेट से जुड़े कार्य ज्यादा करते हैं, वो अपनी कंपनी में Ethical Hackers को काफी ज्यादा महत्व देते हैं और इसमें काफी कार्यकर्ता खोजते हैं ओर Ethical Hacking की नौकरी करते हैं। Ethical Hackers को सिर्फ बड़ी कंपनियां ही हायर करती हैं ओर यह काम भी काफी जटिल व प्रोफेशनल होता है तो जाहिर सी बात है कि यह काम करने वाले का पैकेज या सैलेरी भी काफी ज्यादा होगी। और यही वजह है कि आजकल युवा एथिकल हैकिंग की तरफ जाने के बारे में ओर इसमें कैरियर बनाने के बारे में ही ज्यादा सोचते हैं।

तो अगर आप भी ऐसे ही सख्स हैं, जो ethical hacking के क्षेत्र में जाना चाहते हैं और इसके बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं कि आखिर Ethical Hacking क्या होती है व एथिकल हैकिंग कैसे सिख सकते हैं, तो आप यहाँ सही जगह पर है। इस पोस्ट में हम आज आपको एथिकल हैकिंग के बारे में कुछ जरूरी जानकारी बतायेंगे, जो आपकी इसके बारे में अच्छे से जानने व इस क्षेत्र में जाने और अपना Ethical Hacking  में कैरियर आगे बढ़ाने में मदद कर सकती है। आज इस पोस्ट में हम आपको एथिकल हैकिंग के बारे में पूरे विस्तार से बताने वाले हैं कि यह क्या होती है, इसके क्या फायदे व नियम होते हैं और इसको कैसे सीख सकते हैं।

तो चलिए दोस्तों, शुरू करते हैं और जानते हैं एथिकल हैकिंग के बारे में सारी जरूरी जानकारी हिंदी में –

Ethical Hacking क्या है और एथिकल हैकिंग कैसे सीखें – Hacker कैसे बनें

what is ethical hacking hindi

सबसे पहले में आपको बता दूं कि ऐसे किसी भी काम में जाने के लिए आपको हाई प्रोफाइल Coding ओर Programming language आना जरूरी है। सिर्फ कोई एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं, बल्कि आपको सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज आनी चाहिए। अगर आप पहले से ही प्रोग्रामिंग ओर कोडिंग के क्षेत्र में है और आपको इन सब कामों की अच्छी खाशी समझ है, तो ही इनके तरफ जाने की सोचें, अन्यथा आपसे यह होना काफी मुश्किल है। सभी प्रकार की प्रोग्रामिंग भाषाओं में महारथ रखने वाला ही एक हैकर बन सकता है या एथिकल हैकिंग जैसे प्रोफेशनल काम में आगे बढ़ सकता है। तो चलिए अब जानते हैं कि एथिकल हैकिंग क्या होती है –

What is Ethical Hacking – एथिकल हैकिंग क्या है?

एथिकल हैकिंग को समझने के पहले हैकिंग क्या होती है यह जान लेते हैं –

किसी कंप्यूटर सिस्टम या नेटवर्क में घुसने के रास्ते खोजकर उस पर अपना नियंत्रण स्थापित करना हैकिंग कहलाता है। नियंत्रण स्थापित हो जाने के बाद हैकिंग करने वाला सिस्टम को दूसरों के लिए लॉक कर सकता है या उसमें मौजूद इनफार्मेशन चुरा सकता है/फेरबदल कर सकता है।

हैकरों को उनके काम करने के आधार पर तीन प्रकार से वर्गीकृत किया गया है

black vs White hat hackers

White Hat Hacker – अच्छे हैकर , इन्हें आप साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ भी कह सकते हैं, ये अपने ज्ञान का प्रयोग डाटा की सुरक्षा और इंटरनेट में मौजूद बुराई को दूर करने में करते हैं नेटवर्क की कमियाँ ढूँढते हैं उन्हें दूर करते हैं ।

Black Hat Hacker – साइबर क्रिमिनल्स; इन्हीं लोगों के कारण पूरी हैकर बिरादरी बदनाम है। ये हैकिंग में माहिर होते हैं पर अपनी महारत का उपयोग ये लोग गलत कामों में करते हैं।

Gray Hat Hacker – ये लोग ब्लैक एंड वाइट के बीच वाले हैं ये न अच्छे हैं न बुरे। इनका काम वाइट हटाकर की तरह होता है लेकिन यह लोग अपने एक्सेस का गलत फायदा उठाते हैं और कभी कभी संवेदनशील डाटा बेच देते हैं या फिर दूसरे हैकरों के लिए नेटवर्क का रास्ता खोल देते हैं।

Black Hat Hacking Vs White Hat Hacking Hindi guruji

Ethical Hacking – कोई भी नेटवर्क पूरी तरह सुरक्षित नहीं होता है। सभी में कोई न कोई कमी होती ही है बस हैकरों का ध्यान नहीं जाता कभी-कभी । चूँकि डाटा अनमोल है इसीलिए नेटवर्क में मौजूद कमियों का समय रहते पता लगाना किसी भी कंपनी/संगठन के लिए जरुरी है, लेकिन नेटवर्क की खामियों का पता कैसे चलेगा, क्या इसके लिए किसी अनहोनी की प्रतीक्षा करेंगे ? यहाँ पर आते हैं एथिकल हैकर दूसरे शब्दों में साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ।

एथिकल हैकिंग का मूल उद्देश्य है नेटवर्क में मौजूद खामियों का पता लगाना और उन्हें दूर करना। इसके लिए वाइट हैट हैकर पेनेट्रेशन टेस्टिंग करते हैं। पेनेट्रेशन टेस्टिंग ( संक्षिप्त में पेन टेस्टिंग ) एक सिम्युलेटेड साइबर अटैक है जो किसी नेटवर्क में संभावित खतरों और कमजोर भाग को खोजने के लिए किया जाता है जिनके माध्यम से कोई ब्लैक हैट हैकर नेटवर्क का एक्सेस पाकर कंपनी को नुकसान पहुँचा सकता है।

Note :- Ethical Hacking को White Hat Hacking भी कहते हैं। एक एथिकल हैकर, व्हाइट हैट हैकर होता है और उसका काम कानूनी तौर पर मान्य या लीगल होता है।

Ethical Hacking (एथिकल हैकिंग) Illegal होती है या legal ?

दोस्तों, अगर आप एथिकल हैकिंग की तरफ जाना चाहते हैं और इसको सीखना चाहते हैं तो आपका पहले यह जानना जरूरी है कि क्या एथिकल हैकिंग लीगल होता है? कहीं ये अन्य हैकिंग के तरह इल्लीगल या गैरकानूनी तो नहीं है? ऐसे में हम आपको बताना चाहते हैं कि White Hat Hacking पूरी तरह से कानूनी तौर से सही या लीगल होता है। लेकिन कुछ स्थिति में यह गैरकानूनी भी होता है। क्योंकि यह भी एक तरह से हैकिंग ही होती है, White Hat Hacking. इसमें आपको कंपनी द्वारा निर्धारित या हैकिंग की कुछ सीमाओं में रखकर काम करना होता है। जब तक आप सही तरह से काम करते हैं, यह पूरी तरह से लीगल होता है और आपको उसे करने का अधिकार है।

लेकिन अगर आप अपनी हैकिंग स्किल्स को दुरुपयोग करते हैं और आप एक एथिकल हैकर या White Hate Hacker से ब्लैक हैट हैकर बनते हैं और किसी भी कंपनी के जानकारी चुराते हैं, किसी अन्य वेबसाइट को एक्सेस करने की कोशिश करते हैं जिसकी आपको अनुमति नहीं है या आप किसी भी तरह से अपने पर्सनल स्वार्थ हेतु इसका दुरुपयोग करते हैं तो निश्चित ही यह गैरकानूनी है।

White Hat Hacking की कुछ सीमाएं हैं और आपको उनका पालन करना होता है, तभी यह एक पूर्ण रूप से कानूनी होता है। आपको इसमें किसी भी कंपनी या संस्थान की वेबसाइट को सायबर अटैक से बचाना होता है और उसकी कमियों को ठीक करना होता है, ताकि कोई भी हैकर उनको पकड़कर उस वेबसाइट को हैक ना कर सके। ना कि उस वेबसाइट को खुद हैक करने या जानकारी चुराना।

तो चलिए अब उन शर्तों या नियमों को भी जान लेते हैं जो एथिकल हैकिंग (White Hat Hacking) को एक कानूनी काम बनाती हैं और जो शर्तें एक हैकर को एथिकल हैकर बनाती हैं।

Ethical Hacking के लिए मुख्य शर्तें कौनसी हैं?

हैकिंग को एथिकल बनाने के लिए कुछ शर्तों का पालन करना जरुरी होता है, हैकर के लिए भी और जिस कंपनी ने उसे नियुक्त किया है उसके लिए भी जो कि इस प्रकार हैं –

  • हैकर को नियुक्त करने वाली कंपनी और हैकर के बीच लिखित में अनुबन्ध होना चाहिए। इस अनुबंध में कंपनी को अपनी जरूरतों के बारे में बताना होगा और हैकर को नेटवर्क पर सिम्युलेटेड अटैक करने की अनुमति प्रदान करनी होगी।
  • कंपनी के संवेदनशील इन्फॉर्मेशन से हैकर को दूर रहना होगा यदि उसके काम के लिए जरूरी न हो तो।
  • सुरक्षा सम्बन्धित खतरों का पता चलने के बाद हैकर की जिम्मेदारी है कि वह अपनी नियोक्ता कंपनी को इससे अवगत कराए।
  • काम हो जाने के बाद हैकर को उन सभी रास्तों को बंद करना होगा ताकि कोई ब्लैक हैट हैकर नेटवर्क का एक्सेस न पा सके।

तो ये थी एथिकल हैकर के लिए कुछ शर्तें, जिनके आधार पर ही एक एथिकल हैकर को काम करना होता है। तो चलिए अब जान लेते हैं कि एक ethical hacker का क्या काम होता है या ethical hacking में क्या क्या काम होते हैं?

Ethical Hacking में क्या काम होता है?

जैसा कि हमनें आपको बताया है कि एथिकल हैकर एक साइबर एक्सपर्ट होता है जो किसी भी तरह के सायबर हमले या हैकिंग से डेटा को सुरक्षित रखता है। इसका मतलब एक ethical hacker का काम मुख्यतः सायबर अटैक को रोकना ओर डाटा को सुरक्षित रखना ही होता है। लेकिन इसमें भी एक एथिकल हैकर के कुछ खाश काम होते हैं।

एक एथिकल हैकर का मुख्य काम कंपनी के कंप्यूटर सिस्टम की सुरक्षा को जांचने का होता है, ताकि वह कंपनी का डाटा हैक होने या चोरी होने से बचा सके। साथ ही कंप्यूटर सिस्टम के उन लूपहोल्स का पता लगाते हैं, जिसके कारण दूसरे हैकर साइबर क्राइम को अंजाम देते हैं। इसके अतिरिक्त किसी तरह का साइबर क्राइम होने पर भी वह साइबर क्रिमिनल को पकड़ने में हरसंभव मदद करते हैं।

cyber security hacking hindi

Ethical Hacking कैसे सीखें –

हर किसी के लिए एथिकल हैकिंग सीखना कोई आम बात नहीं है। यह बहुत कठिन होता है और आपको यह सीखने के लिए इंटरनेट और टेक्नोलॉजी की काफी जानकारी होना जरूरी है। अगर आप एथिकल हैकिंग सीखना चाहते हैं तो आपके पास कुछ खाशे स्किल्स होना जरूरी है, जैसे –

  • Computer ओर Technology का अच्छा ज्ञान
  • प्रोग्रामिंग की अच्छी समझ
  • नेटवर्किंग की अच्छी समझ होना
  • Windows ऑपरेटिंग सिस्टम की अच्छी समझ
  • Linux ओर Python इत्यादि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अच्छा ज्ञान
  • Networking और Security के Fundamentals मालूम होने चाहिए
  • आपको Linux OS का इस्तेमाल करना आना चाहिए।

अगर आपमें ये सभी स्किल्स हैं या ये सब सीख सकते हैं तो आप एथिकल हैकिंग में कैरियर चुन करते हैं और इसको सिख सकते हैं। अगर आप इसके लिए तैयार है तो चलिए अब हम आपको बताते हैं कि आप एथिकल हैकिंग कहाँ से सीख सकते हैं –

  1. Indian Institute Of Ethical Hacking, Kolkata
  2. NIIT Ethical Hacking
  3. Institute Of Information Security
  4. International Institute Of Information Technology
  5. मद्रास यूनिवर्सिटी

इत्यादि भारत के शीर्ष संस्थान या इंस्टीट्यूट हैं जो एथिकल हैकिंग का कम्पलीट कोर्स ओर सर्टिफिकेट प्रोवाइड करवाते हैं। आप यहाँ से प्रोफेशनल एथिकल हैकिंग सीख सकते हैं।

यहाँ में आपको बताना चाहूंगा कि जो institute होते हैं वो आपको केवल technical knowledge प्रदान करते हैं। लेकिन आपको ये आपको सीखना है, समझना है तो आपको अपनी तरफ से पूरी dedication देनी होगी। सबसे महत्वपूर्ण यह है- एक कारण- कि आप ये क्यों करना च हते हो? इसमें आप तभी सफल होंगे जब hacking आपका उद्देश्य हो। बहुत सारे institutes हैं जो इस क्षेत्र मैं course provide करते हैं।

CEH Certificate

एक Ethical Hacker बनने के लिए आपको Computer का अच्छा Knowledge होना चाहिए। इसके साथ ही आपको Linux की भी जानकारी होनी चाहिए, और अगर आप एक Certified Ethical Hacker बनना चाहते हैं तो आपको CEH का Exam देकर Certificate प्राप्त करना होगा। इसके अलावा किसी Programming Language में भी आपकी अच्छी पकड़ होनी चाहिए।

CEH एक Certification Course है जो कि EC-Council द्वारा बनाया गया है। आप कई जगहों से Hacking Course कर सकते हैं पर Certificate आपको EC-Council द्वारा ही दिया जाएगा। CEH के बारे में और अधिक जानने के लिए आप EC-Council के Website https://www.eccouncil.org/ पर जा सकते हैं। अगर आप किसी कंपनी में Ethical Hacker के तौर पर काम करना चाहते हैं तो आपके पास CEH Certificate होना ही चाहिए. हालांकि कई ऐसी भी Companies है जो कि बिना Certifictae के भी आपको नौकरी दे देंगी। पर ऐसा तभी होगा जब आपको Hacking के Field की अच्छी जानकारी होगी।

Read – Aarogya Setu क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें

एथिकल हैकिंग ऑनलाइन कोर्स ओर बुक्स –

अब बात आती है कि क्या आप एथिकल हैकिंग को ऑनलाइन भी सीख सकते हैं? जी हाँ, आप सीख सकते हैं, लेकिन यह आपकी पहले की जानकारी और सीखने की स्किल्स पर निर्भर करता है। अगर आपमें पहले से एथिकल हैकिंग की बेसिक जानकारी रखते हैं और आप ऑनलाइन सीखने में व प्रेक्टिकल करने में माहिर हैं तो आप ऑनलाइन भी ethical hacking सीख सकते हैं।

इंटरनेट पर बहुत से ऐसी वेबसाइट्स हैं, जो आपको एथिकल हैकिंग के कोर्स बेचती हैं या आपको ऑनलाइन बहुत सी ebooks या hacking books मिल जाएंगी, जिनके आधार पर आप हैकिंग सीख सकते हैं। इंटरनेट पर Udemy जैसी वेबसाइटों पर ऑनलाइन ethical hacking का कोर्स काफी कम दामों में मिल जाएगा, जहाँ आप जॉइन करके इसके लिए कोर्स खरीद सकते हैं। इसके अलावा भी इंटरनेट पर इससे सम्बंधित बहुत से अच्छी वेबसाइट्स हैं, जहाँ से आप ऑनलाइन एथिकल हैकिंग का कोर्स Buy कर सकते हैं। आप इसके लिए Google कर सकते हैं, आपको अच्छी वेबसाइटों के बारे में जानकारी मिल जाएगी।

Steps For Learn Ethical Hacking – क्या करना होगा एथिकल हैकिंग सीखने के लिए

यदि आप एथिकल हैकिंग सीखना चाहते हैं तो उनमें बहुत सारी चीजों की जरूरत होती है, बेसिक चीजों से आपकी शुरुआत होगी। यहाँ हम आपको कुछ टिप्स दे रहे हैं, जिनके आधार पर आप एथिकल हैकिंग सीख सकते हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं कि आपको एथिकल हैंकिंग सीखने के लिए किन किन स्टेप्स से गुजरना पड़ेगा। तो चलिए जानते हैं –

  • एक अच्छा कंप्यूटर लें और उसमें A+ लगवाएं – आप में से कुछ कहेंगे कि A + Security + Network + Linux + Network + CEH की आवश्यकता नहीं है, इनमें से कोई भी कोर्स ऐसा नहीं है, जिसमें वे उन कौशलों को सिखाते हैं जिनकी आवश्यकता आपको बिना एक भी गूगल के पड़े रहती है।
  • एक से अधिक प्रोग्रामिंग भाषा सीखें – प्रोग्रामिंग भाषाएँ: इसके लिए मैं पाइथन के साथ शुरू होता हूं, फिर कुछ और जटिल भाषा पर आ जाता हूं।आप एक बार में अपने आप को धक्का न दें और जब आप जानते हैं कि कुछ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जावा पर आ जाती हैं, तो आप चाहें तो इसकी जगह C पर जाएं। एक पूरी सूची देना मुश्किल है क्योंकि हर हैकर और प्रोग्रामर अलग-अलग होते हैं और भाषाएं और सिंटेक्स बहुत बदलते हैं। ऐसी भाषा चुनें जिसे आप पसंद करते हैं, उसे ना चुनें जिससे आप नफरत करते हैं
  • यदि आपके मित्र कहते हैं कि सभी हैकर्स उस भाषा को जानते हैं और यह मजेदार है केवल इस लिए उस भाषा को ना चुनें। ऐसी भाषा चुनें जिसे आप पसंद करते हैं और उसे ज्यादा से ज्यादा सीखते रहिए। यदि आप चाहें तो आप कई भाषाओं में प्रोग्राम कर सकते हैं। पायथन एक बहुत ही लोकप्रिय स्क्रिप्टिंग भाषा बन रही है। अगर आपको नहीं पता कि एक स्क्रिप्टिंग भाषा क्या है तो, यह एक भाषा है जैसे बैश और पायथन नेटवर्क विश्लेषण जैसे कार्यों को स्वचालित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • अपने ओएस पर एक मूल स्क्रिप्टिंग भाषा के बारे में थोड़ा सा जाने। यह बैश (लिनक्स) पावरशेल (विंडोज) हो सकता है. यह आपके सिस्टम के लिए उपयोग किए जाने वाले स्क्रिप्टिंग टूल या पावरप्ले के आधार पर बैकडोर स्क्रिप्ट की क्षमता के लिए उपयोगी होगा। सिस्टम पर क्या स्थापित किया गया है, यदि आपका लक्ष्य विंडोज़ है तो पावरशेल स्थापित होगा और बैश एक लिनक्स मशीन के लिए उपयोगी होगा, जो फ़ाइलों की प्रतिलिपि बनाने के लिए एक स्क्रिप्ट को स्वचालित करने के लिए एक एक्सप्लॉइट डेटाबेस से पोस्ट एक्सप्लॉयटेशन के लिए एक स्क्रिप्ट डाउनलोड करने के लिए अपलोड की गई फ़ाइल को संकलित करता है। कंप्यूटर या सर्वर जैसे कि FTP (फाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉल) के माध्यम से आप जो भी पा सकते हैं या एक टूल को स्क्रिप्ट कर सकते हैं जो आपको टूटे या पुराने टूल को ठीक करने के लिए एक एक्सप्लॉइट मिला।
  • रचनात्मक बनें। एक हैकर होने के लिए रचनात्मकता की आवश्यकता है क्योंकि एक नेटवर्क के रक्षक नए सिस्टम के साथ आ रहे हैं ताकि सिस्टम की रक्षा कर सकें। क्योंकि एक हैकर के रूप में आपको इन प्रणालियों के काम करने के तरीकों को बदलने के तरीकों की तलाश करने की जरूरत है और एक शेल अपलोड करने का तरीका जानने की जरूरत है उस बॉक्स में।
  • कुछ कंप्यूटर नेटवर्किंग का उपयोग करें। एआरपी, फायरवॉल, एनएटी, डीएनएस, सबनेट, डीएचसीपी, आईपी ओएसआई मॉडल, टीसीपी / आईपी टीसीपी यूडीपी एचटीटीटीटीपीएस आदि चीजें सीखें।
  • यह महसूस करें कि हैकिंग फिल्मों की तरह नहीं है या आपके पसंदीदा न्यूज प्लेटफॉर्म पर प्रदर्शित की जाने वाली। हैकिंग और कंप्यूटर सामान्य रूप से इतना बड़ा विषय है कि कोई भी विशेषज्ञ नहीं है। यही कारण है कि हैकिंग कई विषयों जैसे सोशल इंजीनियरिंग, वेब सर्वर हैकिंग आदि है। हैकिंग केवल एक कंप्यूटर तक ही सीमित नहीं है।
  • हमलों के बारे में जानें जैसे 0days फ़िशिंग MITM फ़ाइल समावेशन बफर ओवरफ्लो आदि।
  • कुछ रिवर्स इंजीनियरिंग के बारे में सीखें। इससे कोड को समझने और प्रोग्राम के काम करने के तरीके को बदलने में मदद मिलेगी।
  • कभी हार मत मानो। कोई भी सही तरीके से शुरू नहीं करता है. सब शौकीनों और शुरुआती लोगों के रूप में शुरू करते हैं।

तो दोस्तों, ये थी एथिकल हैकिंग के बारे में समस्त जानकारी। इससे आपको एथिकल हैकर बनने व हैकिंग सीखने में काफी मदद मिल सकती है। अब अगर आप एक हैकर बनना चाहते हैं तो जान लेते हैं कि एक Ethical Hacker की Salery क्या हो सकती है और ऐसे कौन कौनसे फ़ील्ड्स हैं, जहां आप एक एथिकल हैकर के रूप में काम कर सकते हैं और अपनी सेवाएं दे सकते हैं और अच्छा पैसा कमा सकते हैं। चलिए जानते हैं –

Ethical Hacker की Salery कितनी होती है?

अब अंत में बात आती है एथिकल हैकिंग या White Hat Hacking के सैलरी पैकेज की। इसकी सैलरी कोई फिक्स नहीं होती। यह आपकी योग्यता व आपके अनुभव पर निर्भर करती है। आपके पास जितना ज्यादा काम का अनुभव है और आप जितना अच्छा काम कर सकते हैं, उतने ही ज्यादा पैसे हैं।

इसमें आपको शुरुआती सैलरी 20 हजार से शुरू हो सकती है और किसी नए या फ्रेशर के लिए या 40 हजार महीने तक हो सकती है। फिलहाल भारत में इसकी सैलरी 20-25 हजार रुपये महीने से शुरू होकर 2 लाख रुपये महीने तक या इससे भी ज्यादा तक होती है। अगर आपको काम का अनुभव कम है तो आपको इसमें 20K से 30K तक प्रति महीने मिलेंगे ओर जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाएगा आपको इससे ज्यादा के ऑफर या सैलेरी पैकेज के ऑफर आने शुरू हो जाएंगे। भारत में ऐसे बहुत से प्रोफेशनल एथिकल हैकर्स हैं, जिनको कंपनियां 20 लाख से 50 लाख तक का सालाना सैलेरी पैकेज देती हैं। आपको भी थोड़ा अनुभव होने के बाद 5 से 10 लाख तक का सालाना सैलेरी पैकेज भारत में मिल सकता है।

अगर बात करें विदेशों में इस जॉब प्रोफाइल के रिक्वायरमेंट की तो इसके लिए विदेशी कंपनियों में भी काफी ज्यादा Jobs Available होते हैं। विदेशों में आपके काम व जानकारी के हिसाब से अगर आपको कोई ऑफर मिलता है तो आपको 2 से 5 लाख रुपये प्रति महीना इस काम का मिल सकता है, जो काफी ज्यादा होता है। तो, कुल मिलाकर अगर कहा जाए तो इस काम में काफी अच्छा पैसा है बशर्ते आपको इसमें अच्छी खाशी समझ हो। आप इस काम में अच्छा पैसा कमा सकते हैं और अपना Future सेट कर सकते हैं।

Conclusion –

दोस्तों, इंटरनैशनल डेटा कॉर्प की एक रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में इन्फर्मेशन सिक्यॉरिटी प्रफेशनल्स की मांग आने वाले वर्षों में तेजी से बढ़ेगी। इस बढ़ी हुई जरूरत के कारण ही बड़ी-बड़ी आईटी और कम्यूनिकेशन कंपनियां तक एथिकल हैकर्स की नियुक्ति को प्राथमिकता दे रही है। आईटी और कंप्यूटर से जुड़ी कंपनियों के अलावा अन्य कंपनियों में भी साइबर स्पेस की सुरक्षा के लिए एथिकल हैकर्स की मांग बढ़ी है।

तो अगर आप भी इसमें आना चाहते हैं और एक White hat hacker बनना चाहते हैं तो यह आपकी एक बहुत ही अच्छी पसंद होगी। अगर आपको coding ओर कंप्यूटर इत्यादि की अच्छी समझ व रुचि है तो आपको इसमें जरूर जाना चाहिए। यह आपके कैरियर के लिए एक शानदार विकल्प है। हालांकि भारत में कम संस्थान इस कोर्स को कराते हैं। ज्यादातर संस्थानों से एथिकल हैकिंग में पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा किया जा सकता है।

इसके लिए ग्रैजुएट होना जरूरी है। वर्तमान में कंप्यूटर के एक्सपर्ट ही ऐसे कोर्स कर रहे हैं जिसके कारण एथिकल हैकर्स की काफी कमी है। तो इसमें अभी काफी अच्छा स्कोप है और आपको इसकी तरफ जरूर बढ़ना चाहिए और एक प्रोफेशनल व हाई प्रोफाइल एथिकल हैकर बनने के लिए अपनी राह दुरुस्त करनी चाहिए।

तो दोस्तों, आज की Ethical Hacker से सम्बंधित इस जानकारी में हमारी तरफ से बस इतना ही। उम्मीद है कि आपको हमारे इस आर्टिकल से एथिकल हैकिंग या व्हाइट हैट हैकिंग के बारे में जानने में काफी ज्यादा मदद मिली होगी और आपको इसके बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा। अगर अभी भी आपके मन में इस पोस्ट या ethical hacking के बारे में कोई सवाल या सुझाव है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट के माध्यम से अपना सवाल हमसे पूछ सकते हैं। हम इससे सम्बंधित आपको ओर सहायता करने की कोशिस करेगें।

इस पोस्ट को अन्य लोगों की मदद या अपने दोस्तों की सहायता या उन तक इस पोस्ट को पहुंचाने के लिए निचे दिए गए share buttons पर क्लिक करके इसको शेयर भी अवश्य करें। धन्यवाद..! Also Read – Cord Cutting क्या है? What Is Cord-Cutting In Hindi

Rohit Maan
Hollo Readers, I'm Rohit Maan And I'm founder CEO Of This Website. I'm A Professional Blogger, Digital Marketing Specialist, And Web Developer. I'm From Churu, Rajasthan